देश सेवा के बाद अब बस एकमात्र मकसद एकमा विधानसभा वासियों का सेवा करना

एकमा विधानसभा क्षेत्र में विकास कभी भी कार्यसूची (एजेंडा) नहीं रहा हैं

जी हाँ, सबसे पहले हर प्रतयाशी का अपना कार्यसूची (एजेंडा) होना चाहिए, आगे क्या करेगा उदाहरण के तौर पे बताये और उसका करके नमूना दिखाए |  

इसबार का मुद्दा स्पस्ट हैं | 

1. रोजगार विकशित करना और पलायन रोकना 

2. स्वास्थ  सेवाओं में सुधार 

3. शिक्षा के अस्तर में सुधार  

4. कोटा के समान में पारदर्शिता और ऑनलाइन जोड़ना 

5. सड़क का निर्माण 

6. किस भी कार्य का मापदंड में पारदर्शिता

 आने वाले 5  साल में दिखाओ डेमो, क्या करना है ?  झूठा वादा बहुत देखा एकमा विधानसभा के लोगो ने अब झूठे वादे नहीं सबूत चाहिए की क्या करोगे ? फिर ऐसा तो नहीं झूठा वादा करके पांच साल के लिए गायब हो जाओगे “नेता जी” और अंत के 6 महीने में आपको अपने क्षेत्र की याद आएगी और फिर वही  बनावटी चेहरा लेके लोगो के सामने फिर भीख मांगने पहुंच जाओगे, अब जनता उसी उसी का साथ देगी  जो असली रखवाला, हक़दार और  जिसमे प्रगतिशील सोच  हैं | 

मेरा जीवन और सीख

मैंने अपने जीवन से बहुत सी चीजें सीखी हैं, कुछ बेहतरीन अभ्यास-  कभी मुसीबतों से न घबराएं उसका डट के सामना करे और  एक दिन आप सफल होंगे। काम शुरू करने से पहले एक ठोस योजना बनाएं। सभी लोगो को साथ लेके चले यही सफलता की कुंजी है।

पाकिस्तान के दो टुकड़े

पूर्वी पाकिस्तान ने हमेशा पश्चिमी पाकिस्तान के साथ गलत व्यव्हार , नतीजा हुवा हमने दो टुकड़े कर दिए पाकिस्तान के और सुरक्षा के दृस्टि से भारत के लिए अच्छा हुवा | भारत बांग्लादेश युद्ध - 95 हज़ार पाकिस्तान के फौज ने आत्मसमर्पण किया |

शक्ति हमेसा समूह में होती हैं

मेरा परिवार, मेरे गांव और मेरे एकमा विधानसभा के लोग ही मेरे असली शक्ति है | "एक आदमी से सेना नहीं बनती" और "अकेला चना भाड़ नहीं फोड़ सकता |"

कारगिल का युद्ध

इसी इलाके में तैनात था, प्रारंभिक लड़ाई हमेसा बीएसफ लड़ती क्योंकि हमे अपने देश की सीमा का रक्षा करना होता हैं, किसी भी तरह के मुसीबत से पहले हम लड़ते हैं और बाद में सेना संभालती हैं

कार्य करने से पहले योजना बनाये

कोई भी कार्य करने से पहले अपने योजना बनाये अन्यथा आपको ये नहीं पता होगा की आपका लक्ष्य क्या हैं , कैसे करना हैं और उसका फायदा क्या होगा | सही योजना आपको रास्ते पे रखेगा

खुफिया विभाग

किसी भी गतिविधि की जानकारी खुफिया विभाग ही देती हैं और बाद में उसी जानकारी के आधार पर सामूहिक करवाई की जाती हैं


राजनीती एक सेवा हैं

लोगो को यही पता है की राजनीती गलत हैं और इसमें सिर्फ भ्रस्ट लोग शामिल हैं, ऐसा बिलकुल नहीं हैं यह एक निस्वार्थ सेवा हैं यह कोई व्यापार नहीं हैं

in@abc.com
YouTube
LinkedIn
Share
Instagram